राजस्थान

SBI अपने स्पेशल कस्टमर्स को देगा घर बैठे सर्विस

हिंदुस्तान पत्रिका /दिल्ली ब्यूरो रिपोर्ट

========================================================================

दिल्लीः देश का सबसे बड़ा बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने ग्राहकों को घर बैठे बैंकिंग सुविधा देना शुरू किया है। इसके तहत 70 साल से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिकों, दिव्यांग और दृष्टिहीन ग्राहकों को घर बैठे नकदी जमा और निकासी की सुविधा दी जाएगी। इसके साथ ही बैंक चेक पिकअप, स्लिप, लाइफ सर्टिफिकेट और फॉर्म 15एच पिकअप की सुविधा भी देगा। हालांकि, इस सेवा का लाभ लेने के लिए बैंक को एक तय शुल्क का भुगतान करना होगा। 

आरबीआई ने दिया था निर्देश : भारतीय रिजर्व बैंक ने देश के सभी बैकों को वरिष्ठ नागरिकों, दिव्यांग और दृष्टिहीन लोगों को बैंकिंग सेवा में सहूलियत देने का निर्देश दिया था। बैंक की यह सेवा उसी के अनुरूप है। घर बैठे सेवा का लाभ के लिए ग्राहकों को होम ब्रांच में जाकर पंजीकरण करना होगा। ग्राहकों को प्रत्येक वित्तीय लेन-देन करने पर 100 रुपए और गैर वित्तीय लेन-देन करने पर 60 रुपए फीस देनी होगी। 

एसबीआई ने कहा है कि जिन ग्राहकों की केवाईसी पूरी है उन्हें ही ये सुविधा मिलेगी। साथ ही बैंक के पास उपभोक्ता का मोबाइल रजिस्टर्ड होना जरूरी होगा। यह सुविधा होम ब्रांच के 5 किलोमीटर के दायरे में मिलेगी।

Written By

DESK HP NEWS

Hp News

Related News

All Rights Reserved & Copyright © 2015 By HP NEWS. Powered by Ui Systems Pvt. Ltd.

BREAKING NEWS
अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी चुनाव हारे, स्मृति ईरानी ने जीता चुनाव | सोनिया गांधी रायबरेली से एक लाख से अधिक मतों से जीतीं | राहुल गांधी ने की कांग्रेस अध्यक्ष के पद से इस्तीफा देने की पेशकश : सूत्र | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी से 4.75 लाख मतों से जीते | जीत पर पहली बार बोले PM मोदी- सबका साथ+सबका विकास+ सबका विश्वास | मुख्यमंत्री कॉर्नर ......................गहलोत का आरोप - पीएम मोदी ने धर्म, जाति, सेना के शौर्य के नाम पर यह चुनाव लड़ा | राजस्थान के भाजपा मुख्यालय में जश्न का माहौल, आप देख सकते है तस्वीरों में........... | जयपुर शहर से बोहरा आगे, जयपुर ग्रामीण में राज्यवर्धन राठौड़ को 134339 वोटों की बढ़त | राजस्थान में कांग्रेस हार के कगार पर, 25 सीटों पर भाजपा-गठबंधन आगे | हरियाणा में BJP को 9 सीटों की बढ़त |