राजस्थान

एसबीआई के ग्राहकों को मिला दिवाली का तोहफा, होम और ऑटो लोन की ब्याज दर में हुई बड़ी कटौती

हिन्दुस्तान पत्रिका / नई दिल्ली ब्यूरो रिपोर्ट

=================================================================================

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने ग्राहकों को दिवाली गिफ्ट दिया है। आरबीआई  की तरफ से रेपो रेट में कटौती किए जाने के बाद स्टेट बैंक ने भी ग्राहकों के लिए लोन लेना सस्ता कर दिया है। एसबीआई ने MCLR की दरें 0.10 फीसदी तक घटाई हैं। नई दरें 10 अक्टूबर से लागू हो जाएंगी। आप यदि होम, ऑटो और पर्सनल लोन लेने की सोच रहे हैं तो सस्ती दर पर आपको कर्ज मिल जाएगा। इसके अलावा एसबीआई ने जमाराशियों पर ब्याज दर घटाकर जमाकर्ताओं खासकर ब्याज आय पर निर्भर बुजुर्गों को बड़ा झकटा दिया है। बैंक ने बचत खाते में एक लाख रुपए तक के जमा पर ब्याज दर 0.25 फीसदी घटाकर 3.25 फीसदी कर दिया है।

बैंक के बयान के अनुसार बचत खाते में एक लाख रुपए तक जमा पर ब्याज दर 3.50 फीसदी से घटाकर 3.25 फीसदी कर दिया है। नई ब्याज दर एक नवंबर से लागू होगी। इसके अलावा एक साल से दो साल तक के रिटेल और बल्क टर्म डिपॉजिट पर ब्याज दर में 0.10 से 0.30 फीसदी की कटौती की है। यह ब्याज दर 10 अक्टूबर से लागू होगी।

त्योहारी सीजन में ग्राहकों को लुभाने के लिए बैंक ने मार्जिनल कॉस्ट बेस्ड लैंडिंग (एमसीएलआर) ब्याज दरों में 0.10 फीसदी की गिरावट की है। बैंक ने नई दरें 10 अक्टूबर से प्रभावी करने की घोषणा की है। बैंक के इस कदम से होम लोन और बाकी सभी तरह के कर्जों में मौजूदा ग्राहकों को राहत मिलेगी।

चालू वित्त वर्ष में छठवीं बार एमसीएलआर में कटौती की घोषणा की है। एमसीएलआर की ब्याज दरें उन ग्राहकों पर लागू होती हैं जिनके कर्ज की ब्याज दर रेपो रेट से जुड़ी नहीं है। बैंक ने एक बयान जारी करने कहा है कि त्योहारी सीजन को देखते हुए सभी अवधियों के एमसीएलआर में कटौती का लाघ सभी ग्राहकों को दिया गया है।

एसबीआई के मुताबिक, फेस्टिवल के मौके पर ग्राहकों को ज्यादा फायदा पहुंचाने के लिए बैंक ने सभी अवधि के लिए ताजा कटौती के बाद एक साल का एमसीएलआर 8.15 फीसदी से घटकर 8.05 फीसदी रह गया है। पिछले सप्ताह भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा द्वारा रेपो रेट में 0.25 फीसदी कटौती किए जाने के बाद एसबीआइ ने यह कदम उठाया है।

बैंक एमसीएलआर से कम ब्याज पर कर्ज नहीं दे सकते हैं। हालांकि आरबीआई की अनुमति से अपवाद स्वरूप कुछ क्षेत्रों में कम ब्याज दर लागू करने की छूट है। एमसीएलआर बैंक की फंड जुटाने की लागत पर निर्भर होता है। एमसीएलआर में ताजा कटौती का लाभ मौजूदा ग्राहकों को उस स्थिति में फिलहाल नहीं मिलेगा, अगर साल में एक बार ब्याज दर बदलाव की शर्त लागू है।

चूंकि नए कर्ज एसबीआइ द्वारा रेपो रेट से जुड़ी ब्याज दर पर दिए जा रहे हैं। इसलिए नए ग्राहको पर एमसीएलआर में बदलाव का असर नहीं पड़ेगा। उन्हें रेपो रेट में 0.25 फीसदी कटौती के अनुसार स्वतः की कम ब्याज दर का लाभ मिल जाएगा।

एसबीआई रेपो रेट से जुड़े ग्राहकों से मौजूदा रेपो रेट 5.15 के साथ 2.65 फीसदी स्प्रेडिंग यानी अतिरिक्त ब्याज चार्ज करता है। इस तरह प्रभावी ब्याज दर इस समय 7.80 फीसदी है। लेकिन एसबीआइ अपना मार्जिन सुरक्षित रखने के लिए होम लोन की ब्याज दर पर प्रीमियम भी चार्ज कर रहा है।

Written By

DESK HP NEWS

Hp News

Related News

All Rights Reserved & Copyright © 2015 By HP NEWS. Powered by Ui Systems Pvt. Ltd.

BREAKING NEWS
एटीएम लूट करने वाले 7 बदमाश गिरफ्तार गाड़ी और औजार बरामद | भारत ने पहला टेस्ट पारी और 130 रनों से जीता | राजस्थान / नेताओं के साथ फोटो दिखाकर लाखों की ठगी कर चुके पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष समेत तीन गिरफ्तार | गोवा के पुलिस महानिदेशक प्रणब नंदा की हार्टअटैक से हुई मौत | जयपुर में मांगों को लेकर रेजिडेंट डॉक्टर्स ने किया कार्य बहिष्कार | प्याज की लगातार बिक्री होने के बावजूद भी नहीं थम रहे प्याज के दाम | मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया को कहा नया मुल्ला | चलती कार में आग लगने से......आग के गोले में तब्दील हुई कार | तेज रफ्तार ट्रोले व कार के बीच भिडंत से हुआ भयानक हादसा, हादसे में एडिशनल एसपी के पिता और चचेरे भाई की मौत | जोधपुर सेंट्रल जेल में जेलर के इशारे पर जेल में वसूली, राशन-नशा ऊंचे दामाें में बिक रहा |