राजस्थान

दिल्ली में तीन लड़को की संदिग्ध मौत,आखिर हत्या या हादसा ? पुलिस घेरे में ....

हिन्दुस्तान पत्रिका //दिल्ली ब्यूरो रिपोर्ट  

=============================================================================================================================  नई दिल्ली : मध्य दिल्ली नेताजी सुभाष मार्ग के करीब दिल्ली गेट चौराहे पर शनिवार की रात एक ही जगह पर तीन किशोरों की लाशें मिलने से सनसनी फैल गई। तीनों लड़के आपस में रिश्तेदार थे। तीनों किशोर स्कूटी पर सवार थे। इलाका पुलिस का मानना  है कि, यह सड़क हादसा है। जबकि पीड़ित परिवारों ने पुलिस को ही संदेह के घेरे में खड़ा कर दिया है। परिवार वालों का कहना है कि, तीनों की मौत तब हुई जब वे एक शादी समारोह से लौट रहे थे। उसी वक्त उनकी स्कूटी का पीछा दिल्ली पुलिस के एक गश्ती वाहन ने करना शुरू कर दिया था। मरने वाले तीनों किशोरों की उम्र 16-18 साल के बीच थी।

 दिल्ली पुलिस प्रवक्ता और मध्य दिल्ली जिले के डीसीपी मंदीप सिंह रंधावा की तरफ से कोई अधिकृत बयान नहीं दिया गया है। हादसे का शिकार हुए साद के पिता ने घटनास्थल पर मौजूद मीडिया को देर रात बताया की , 'हादसे में तीन लड़कों की मौत हुई है। मरने वालों में मेरा बेटा साद भी है। मरने वाले बच्चों का नाम साद, हमजा व ओसामा है। तीनों लड़के तुर्कमान गेट इलाके के रहने वाले थे।'

साद के पिता ने साफ-साफ कहा कि यह हादसा नहीं हत्या है और इस हत्या के लिए मध्य दिल्ली जिला की वह पुलिस जिम्मेदार है, जिसका गश्ती दल तीनों लड़कों की स्कूटी का पीछा कर रहा था। अगर पुलिस की जिप्सी लड़कों का पीछा नहीं कर रही होती तो, बच्चों की मौत नहीं होती।  संदेह के घेरे में फंसी मध्य जिला पुलिस अभी तक मुंह बंद किए है।
साद के पिता ने कहा कि जिस स्कूटी पर जाते वक्त यह दिल दहला देने वाला वाकया सामने आया है, वो स्कूटी उनके रिश्तेदार ओसामा के पिता की थी। तीनों लड़के चंद मिनट पहले तक पास ही आयोजित शादी समारोह में मौजूद थे।

एक साथ तीन - तीन किशोरों की दर्दनाक मौत के बाद इलाके में कोहराम मचा हुआ है। लोगों में मध्य जिला पुलिस के खिलाफ रोष है। घटना के बाद हड़बड़ाई पुलिस ने तुरंत ही घटनास्थल के आसपास मौजूद मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज - दिल्ली गेट के आसपास का इलाका सील कर दिया गया।

इलाके के लोगों का कहना है कि पुलिस उस गश्ती जिप्सी को नहीं पकड़ रही है, जिससे स्कूटी का पीछा किया जा रहा था। हादसे में मरने वाले लड़के साद के पिता ने मीडिया से कहा, 'पुलिस के हाथ कुछ सीसीटीवी फुटेज लगे हैं।  हादसे में पुलिस वाले फंस रहे हैं इसलिए पुलिस वाले सीसीटीवी फुटेज दिखाने से कतरा रहे हैं।'
घटना में मरने वाले साद और मौके पर मौजूद ओसामा के मामा के मुताबिक, 'तीनों लड़कों को गंभीर हाल में अस्पताल में भी किसी ऑटो वाले ने दाखिल कराया था। पुलिस कहां थी? संदिग्ध हालात में मरने वाले तीनों लड़के 16-18 साल की उम्र के हैं। मरने वाले किशोरों के मौके पर मौजूद रिश्तेदारों का आरोप था कि, अगर गश्ती पुलिस दल के पीछा करने के चलते तीनों लड़कों की मौत नहीं हुई है तो फिर पुलिस सीसीटीवी क्यों नहीं दिखा रही है?'

Written By

admin 2

DESK REPORTER

Related News

All Rights Reserved & Copyright © 2015 By HP NEWS. Powered by Ui Systems Pvt. Ltd.

BREAKING NEWS
हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर केस में चारों आरोपियों के एनकाउंटर पर उठे सवाल | जवाहर कला केन्द्र में रविवार से आरम्भ होगा चार दिवसीय कथा बेलेे फेस्टिवल | हॉस्टल रूम में मिला मेडिकल छात्रा का शव,कस्तूरबा गांधी अस्पताल मेडिकल कॉलेज की थी छात्रा। | रक्षा मंत्री राजनाथसिंह बोले, पाकिस्तान हमसे कभी भी नहीं जीत पाएगा जंग | चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा ने SMS अस्पताल को दी कई सौगातें। | मुक बधिर कॉलेज के छात्रों ने कॉलेज शिक्षा,शिक्षा संकुल,जयपुर पर इंटरप्रेटर की मांग को लेकर किया विरोध प्रदर्शन | 49 निकायों में 20 पर महिलाएं बनीं अध्यक्ष जिनमे 30 वर्ष से कम उम्र कीं 7 महिलाएं | एटीएम लूट करने वाले 7 बदमाश गिरफ्तार गाड़ी और औजार बरामद | भारत ने पहला टेस्ट पारी और 130 रनों से जीता | राजस्थान / नेताओं के साथ फोटो दिखाकर लाखों की ठगी कर चुके पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष समेत तीन गिरफ्तार |